अशोक चक्रधर > कवि सम्मेलन

कवि सम्मेलन

feature

कवि सम्मेलन हमारे देश ही नहीं बल्कि इस भारतीय उप महाद्वीप की एक सशक्त वाचिक परंपरा है। सदियों से चली आती हुई इस परंपरा के समकाल में अशोक जी का व्यापक अवदान है। उन्होंने न केवल देश में हास्य-व्यंग्य को स्तरीयता प्रदान की बल्कि विदेशों में भी कवि-सम्मेलन की भूमियों का संचयन किया। जहां आज अच्छी फसल उग आई हैं। हमारे देश के कितने ही कवि विदेशों में काव्य पाठ के लिए जाते हैं। लेकिन शुरुआत करने वालों में अशोक जी का विशेष स्थान है। इस खंड में हम चाहेंगे कि कवि सम्मेलन से जुड़ी हुई अधिकतम जानकारियां आपको दी जाएं। कविओं के बारे में, उनकी कविताओं की प्रवृति के बारे में और उनकी उपलब्धि के बारे में। और वे कैसे उपलब्ध हो सकते हैं इस बारे में।