मुखपृष्ठ>
  • खिली बत्तीसी
  • >
  • राग स्विस कल्याणी की एक बंदिश
  • राग स्विस कल्याणी की एक बंदिश

    20110131 Rag swis kalayani ki ek bandishआयो कहां से धन स्याम?
    बता दे सखि
    आयो कहां से धन स्याम?

    यार से या हथियार से आयो,
    ड्रग ट्रैफिक व्यापार से आयो
    तस्करिया गलियार से आयो
    पायो कहां से धन स्याम?
    बता दे सखि
    आयो कहां से धन स्याम?

    नेता से या अभिनेता से आयो
    लेता से आयो कि देता से आयो
    लोकतंत्र के प्रणेता से आयो
    लायो कहां से धन स्याम?
    बता दे सखि
    आयो कहां से धन स्याम?

    कोरट ने अरदास लगाई

    सीवीसी चुप आरबीआई
    बात पते की नहीं बताई
    खायो कहां से धन स्याम?
    बता दे सखि
    आयो कहां से धन स्याम?

    ना कोई कुर्की ना कोई नालिश
    ना कोई बंदिश ना कोई जुम्बिश
    स्विस कल्याणी की ये बंदिश
    गायो कहां से धन स्याम?
    बता दे सखि
    आयो कहां से धन स्याम?

    अंतर्यामी ये धन रब सा
    अविगत अंतर्लोक अजब सा
    हम पर ये अन्याय गजब सा
    ढायो कहां से धन स्याम?
    बता दे सखि
    आयो कहां से धन स्याम?

    wonderful comments!

    1. Rajan जून 12, 2011 at 1:10 अपराह्न

      bahut hi sateek sir. painapan barkaraar hai.

      1. ashokchakradhar जून 15, 2011 at 10:37 पूर्वाह्न

        पैनापन नहीं नपैनापन है। सिर्फ नाप कर देखा है बिना किसी बंदिश के।

    2. anamika जून 14, 2011 at 3:26 पूर्वाह्न

      बता दे सखि आयो कहां से धन स्याम? lajwab prastuti.......ye rahasya pata chal jaye to bat hi kya thi

      1. ashokchakradhar जून 15, 2011 at 10:35 पूर्वाह्न

        बात पते की तो बताई नहीं जा रही अनामिका जी!

    3. anurag singh अगस्त 2, 2011 at 6:55 पूर्वाह्न

      kahan kahan se nai aaya dhan shyam bata de bata ghanshyam...

    4. Vijay Prakash Singh अगस्त 2, 2011 at 8:01 पूर्वाह्न

      बहुत अछ्छा लगा , पढकर| मगर धनश्याम आप को बताएँगे नहीं | सीबीआई पूछेगी ही नहीं, बस बाते बनाती रहेगी |

    5. संध्या सचेदिना अगस्त 4, 2011 at 5:35 अपराह्न

      अक्सर सोच में पढ़ जाती हूँ कि धनस्याम सिर्फ धनाढ्य के पास ही क्यूं आता है? "The rich get richer and the poor get poorer" :-(

    प्रातिक्रिया दे

    Receive news updates via email from this site