मुखपृष्ठ>
  • खिली बत्तीसी
  • >
  • क़िस्मत का मारा धोबी का कुत्ता
  • 20110119 Kismat ka mara dhobi ka kuttaघर पर धोबी

    अपने कुत्ते को

    गधे के सामने

    दुत्कारता है।

     

    घाट पर

    कपड़ों के साथ

    फटकारता है।

    सुनार के कुत्ते के

    गले में

    सोने की माला है,

    कुम्हार ने

    अपने कुत्ते के लिए

    कुल्हड़ में

    दूध डाला है।

     

    लुहार के कुत्ते के पास

    सिकी हुई बोटी है,

    हलवाई के कुत्ते के पास

    मलाईदार रोटी है।

     

    जुलाहे के कुत्ते के पास

    खेलने के लिए

    ढेर है कपास का,

    मोची के कुत्ते के पास

    जूता है

    आदिदास का।

     

    इन सबके पास

    जुगाड़ है

    ऐशोआराम और ठाठ का।

     

    एक

    निरीह

    धोबी का कुत्ता ही है

    घर का न घाट का।

    wonderful comments!

    1. bhavesh bhatt Jun 12, 2011 at 1:46 pm

      सर 'धोबी के कुत्ते' के बारे मे तो बहुत सुना, हमे 'कुत्ते के धोबी' के बारे मे कुछ बताइये...

      1. ashokchakradhar Jun 13, 2011 at 11:18 am

        धोबी के कुत्ते झोंपड़ियों में रहते हैं, जबकि कुत्ते के धोबी महलों में रहते हैं।

    2. sanjay Jul 23, 2011 at 4:10 pm

      really nice.... "धोबी के कुत्ते झोंपड़ियों में रहते हैं, जबकि कुत्ते के धोबी महलों में रहते हैं।"

    प्रातिक्रिया दे