अशोक चक्रधर > Blog > खिली बत्तीसी > क़िस्मत का मारा धोबी का कुत्ता

क़िस्मत का मारा धोबी का कुत्ता

20110119 Kismat ka mara dhobi ka kuttaघर पर धोबी

अपने कुत्ते को

गधे के सामने

दुत्कारता है।

 

घाट पर

कपड़ों के साथ

फटकारता है।

सुनार के कुत्ते के

गले में

सोने की माला है,

कुम्हार ने

अपने कुत्ते के लिए

कुल्हड़ में

दूध डाला है।

 

लुहार के कुत्ते के पास

सिकी हुई बोटी है,

हलवाई के कुत्ते के पास

मलाईदार रोटी है।

 

जुलाहे के कुत्ते के पास

खेलने के लिए

ढेर है कपास का,

मोची के कुत्ते के पास

जूता है

आदिदास का।

 

इन सबके पास

जुगाड़ है

ऐशोआराम और ठाठ का।

 

एक

निरीह

धोबी का कुत्ता ही है

घर का न घाट का।


Comments

comments

3 Comments

  1. bhavesh bhatt |

    सर ‘धोबी के कुत्ते’ के बारे मे तो बहुत सुना,

    हमे ‘कुत्ते के धोबी’ के बारे मे कुछ बताइये…

    • धोबी के कुत्ते झोंपड़ियों में रहते हैं, जबकि कुत्ते के धोबी महलों में रहते हैं।

  2. really nice….
    “धोबी के कुत्ते झोंपड़ियों में रहते हैं, जबकि कुत्ते के धोबी महलों में रहते हैं।”

Leave a Reply