मुखपृष्ठ>
  • खिली बत्तीसी
  • >
  • पर्वतों के पार टीन की एक छत
  • 20110504 Parvato ke paar(ग्लोबल गांव में मनुष्यता के विस्तार का एक परिदृश्य)

    सामने

    टीन की एक छत,

    उसके आगे

    एक नीचा पर्वत।

     

    उसके आगे

    थोड़ा बड़ा पहाड़

    उसके आगे

    थोड़ा और बड़ा पहाड़।

     

    चलो देखते हैं

    क्या है

    उस बड़े पहाड़ के आगे?

     

    एक पैर रखा

    टीन की छत पर

    दूसरा

    नीचे पर्वत पर

    अब एक छलांग लगाते हैं

    बड़े पहाड़ पर,

    एक छलांग और

    और बड़े पहाड़ पर।

     

    अब

    देखते क्या हो

    बेहूदो!

    नीचे कूदो!

     

    रुको! रुको!

    रुको मेरे यार!

    ये तो

    पता चल ही गया

    कि क्या है

    पर्वतों के उस पार।

     

    धत!

    वही

    टीन की एक छत।

    wonderful comments!

    1. sunita patidar Jul 18, 2011 at 5:45 pm

      bahut sunder.

    2. sunita patidar Jul 18, 2011 at 5:46 pm

      bahut sunder.G

    3. Rahul Sangliya Jun 21, 2012 at 3:33 am

      thoda smjh aya thoda reh gya

    प्रातिक्रिया दे