अशोक चक्रधर > Blog > खिली बत्तीसी > करनी पड़ेगी आपकी एनजिओग्राफ़ी!

करनी पड़ेगी आपकी एनजिओग्राफ़ी!

karanee padegee aapkee ngo graaphee

 

 

 

 

 

 

 

करनी पड़ेगी आपकी एनजिओग्राफ़ी!

(मरीज़ का मनोबल बढ़ाने के लिए डॉक्टर हो गए शब्द-शिल्पी)

 

डॉक्टर साहब नहीं दिख रहे थे ईज़ी,

क्योंकि गड़बड़ थी श्रीमानजी की ईसीजी।

 

बोले— हमें करनी पड़ेगी

आपकी एनजिओग्राफ़ी।

और अब आपको दुर्व्यसनों के लिए

बिल्कुल नहीं मिलेगी माफ़ी।

अभी आप छियालीस के हैं,

यही ढर्रा रहा तो आगे के साल

क़ुदरत की बख़्शीश के हैं।

अगर अभी भी

पान तम्बाकू ज़र्दा नहीं खाएं,

देर रात जगने वाली

जगहों पर नहीं जाएं।

ज़रूरत से ज़्यादा काम नहीं करें,

फ़ालतू व्यायाम नहीं करें।

कैसे भी तनाव को दिल पर नहीं लाएं,

मसालेदार तली चीज़ें नहीं खाएं।

नर्सों की हस्तरेखा नहीं देखें,

दिमाग़ के चूल्हे में

दिल को नहीं सेकें।

जीवन में संयम का व्रत ले लें,

किसी की भावनाओं से नहीं खेलें।

परेशानियों से न दहला करें,

रोज़ाना टहला करें।

बीड़ी सिगरेट सिगार

बिलकुल नहीं पिएं,

तो कम से कम नब्भै साल जिएं।

 

श्रीमानजी बोले—

ऐसी जि़न्दगी का क्या करना है?

इससे भला तो मरना है!

 

डॉक्टर बोले—

जितना जो कर चुके वो काफ़ी है,

बहरहाल, कल आपकी

ऐन मरो ग्राफ़ी नहीं

ऐन जिओ ग्राफ़ी है।

 


Comments

comments

1 Comment

  1. वाह जनाब , वाह।

Leave a Reply