मुखपृष्ठ>
  • खिली बत्तीसी
  • >
  • चूहे ने क्या कहा
  • चूहे ने क्या कहा

    चूहे ने क्या कहा

    (छोटों की ताक़त का अंदाज़ा कुछ अनुभवी लोग ही लोग कर पाते हैं)

     

    बुवाई के बाद खेत में

    भुरभुरी सी रेत में,

    बीज के ख़ाली कट्टों को समेटे,

    बैठे हुए थे किसान बाप-बेटे।

     

    चेहरों पर थी संतोष की शानदार रेखा,

    तभी बेटे ने देखा—

    एक मोटा सा चूहा बिल बना रहा था,

    सूराख़ घुसने के क़ाबिल बना रहा था।

     

    पंजों में ग़ज़ब की धार थी,

    खुदाई की तेज़ रफ़्तार थी।

    मिट्टी के कण जब मूंछों पर आते थे,

    तो उसके पंजे झाड़कर नीचे गिराते थे।

    किसान के बेटे ने मारा एक ढेला,

    चूहे का बिगड़ गया खेला।

    घुस गया आधे बने बिल में झपटकर,

    मारने वाले को देखने लगा पलटकर।

    गुम हो गई उसकी सिट्टी-पिट्टी,

    ऊपर से मूंछों पर गिर गई मिट्टी।

    जल्दी से पंजा उसने मूंछों पर मारा,

    फिर बाप-बेटे को टुकुर-टुकुर निहारा।

    ख़तरे में था उसका व्यक्तित्व समूचा,

     

    इधर बेटे ने बाप से पूछा—

    बापू! ये चूहा डर तो ज़रूर रहा है,

    पर हमें इस तरह रौब से

    क्यों घूर रहा है?

     

    बाप बोला— बेटे! ये डरता नहीं है,

    छोटे-मोटे ढेलों से मरता नहीं है।

    हमारी निगाहें बेख़ौफ़ सह रहा है

    ये हम से कह रहा है—

    अब तुम लोग इस फसल से

    पल्ला झाड़ लेना,

    और खेत में

    एक दाना भी हो जाय न

    तो मेरी मूंछ उखाड़ लेना।

    wonderful comments!

    1. Jai Prakash Shaw सितम्बर 21, 2012 at 10:10 अपराह्न

      shabdo ki jadugiri....

    2. Jai Prakash Shaw सितम्बर 21, 2012 at 10:10 अपराह्न

      shabdo ki jadugiri....

    3. Jai Prakash Shaw सितम्बर 21, 2012 at 10:10 अपराह्न

      shabdo ki jadugiri....

    4. Anand Nayak सितम्बर 25, 2012 at 4:57 अपराह्न

      kya bat hai lala .....good collection

    5. Anand Nayak सितम्बर 25, 2012 at 4:57 अपराह्न

      kya bat hai lala .....good collection

    6. Anand Nayak सितम्बर 25, 2012 at 4:57 अपराह्न

      kya bat hai lala .....good collection

    7. Umesh Kumar Chaurasia सितम्बर 25, 2012 at 5:15 अपराह्न

      laajawab..

    8. Umesh Kumar Chaurasia सितम्बर 25, 2012 at 5:15 अपराह्न

      laajawab..

    9. Umesh Kumar Chaurasia सितम्बर 25, 2012 at 5:15 अपराह्न

      laajawab..

    10. Vikas Bajpai सितम्बर 25, 2012 at 5:45 अपराह्न

      Rat looks like FDI Bill

    11. Vikas Bajpai सितम्बर 25, 2012 at 5:45 अपराह्न

      Rat looks like FDI Bill

    12. Vikas Bajpai सितम्बर 25, 2012 at 5:45 अपराह्न

      Rat looks like FDI Bill

    13. Rahul Srivastava सितम्बर 25, 2012 at 5:52 अपराह्न

      Haha

    14. Rahul Srivastava सितम्बर 25, 2012 at 5:52 अपराह्न

      Haha

    15. Rahul Srivastava सितम्बर 25, 2012 at 5:52 अपराह्न

      Haha

    16. Aftab Rahaman सितम्बर 25, 2012 at 7:37 अपराह्न

      nice use of words

    17. Aftab Rahaman सितम्बर 25, 2012 at 7:37 अपराह्न

      nice use of words

    18. Aftab Rahaman सितम्बर 25, 2012 at 7:37 अपराह्न

      nice use of words

    19. PARVEEN SHARMA फरवरी 27, 2013 at 1:01 अपराह्न

      Respected Sir muchai to apni ukdee huai hain sir Regards.

    प्रातिक्रिया दे

    Receive news updates via email from this site