मुखपृष्ठ>
  • खिली बत्तीसी
  • >
  • अपराधी-सिपाही आत्मीय संवाद
  • अपराधी-सिपाही आत्मीय संवाद

    अपराधी-सिपाही आत्मीय संवाद

    (सिपाहियों में बड़ी दूरदृष्टि होती है वे अपराधियों के झांसे में नहीं आते)

     

     

    जानकर सिपाही को भोला,

    अपराधी बोला—

    हवलदार जी!

    मूंछें आपकी

    लच्छेदार जी!

    अब तो आपने

    पकड़ ही लिया है,

    क़ानूनी शिकंजे में

    जकड़ ही लिया है।

    ये ज़िंदगी

    अब आपकी ज़िंदगी है,

    लेकिन इस व़क्त

    ज़रा

    बीड़ी की

    तलब लगी है।

    हे डंडानाथ!

    दो मिनिट में

    बीड़ी ले आऊं

    फिर चलता हूं

    आपके साथ।

     

    सिपाही झल्लाया—

    वाह,

    क्या आयडिया परोसा!

     

    अपराधी गिड़गिड़ाया-

    आपको,

    बिलकुल नहीं है भरोसा?

     

    सिपाही बोला—

    बच्चू!

    बीड़ी लेने जाएगा

    ताकि

    हो जाए उड़न छू।

    बेटा,

    तेरे झांसे में नहीं आऊंगा,

    तू यहीं ठहर

    बीड़ी लेने मैं जाऊंगा।

    wonderful comments!

    1. Ravindra Bharti सितम्बर 7, 2012 at 6:43 अपराह्न

      acha laga,,,muje aapki kavita ,,lahoo ke rang ek hai ,,chahiye pls batayaen kahan se milegi ,,jisme madari khel dikhta hai ,,iceream wala pls sir

    2. Ravindra Bharti सितम्बर 7, 2012 at 6:43 अपराह्न

      acha laga,,,muje aapki kavita ,,lahoo ke rang ek hai ,,chahiye pls batayaen kahan se milegi ,,jisme madari khel dikhta hai ,,iceream wala pls sir

    3. Ravindra Bharti सितम्बर 7, 2012 at 6:43 अपराह्न

      acha laga,,,muje aapki kavita ,,lahoo ke rang ek hai ,,chahiye pls batayaen kahan se milegi ,,jisme madari khel dikhta hai ,,iceream wala pls sir

    4. Ravi Sinoriya सितम्बर 9, 2012 at 12:50 पूर्वाह्न

      like this sirji

    5. Ravi Sinoriya सितम्बर 9, 2012 at 12:50 पूर्वाह्न

      like this sirji

    6. Ravi Sinoriya सितम्बर 9, 2012 at 12:50 पूर्वाह्न

      like this sirji

    7. Praveen Kumar सितम्बर 10, 2012 at 9:46 अपराह्न

      main aapki bahoot se book padhi hai ... main aapki "Sangmarmar ka Sangeet " khoj rahar hoon. Apka Book ' Rang jama loo' ka Ptaa Dijeye.. Thanks..

    8. Praveen Kumar सितम्बर 10, 2012 at 9:46 अपराह्न

      main aapki bahoot se book padhi hai ... main aapki "Sangmarmar ka Sangeet " khoj rahar hoon. Apka Book ' Rang jama loo' ka Ptaa Dijeye.. Thanks..

    9. Praveen Kumar सितम्बर 10, 2012 at 9:46 अपराह्न

      main aapki bahoot se book padhi hai ... main aapki "Sangmarmar ka Sangeet " khoj rahar hoon. Apka Book ' Rang jama loo' ka Ptaa Dijeye.. Thanks..

    10. Sandeep Ameta सितम्बर 11, 2012 at 3:41 पूर्वाह्न

      nice sir

    11. Sandeep Ameta सितम्बर 11, 2012 at 3:41 पूर्वाह्न

      nice sir

    12. Sandeep Ameta सितम्बर 11, 2012 at 3:41 पूर्वाह्न

      nice sir

    प्रातिक्रिया दे

    Receive news updates via email from this site