अशोक चक्रधर > परिचय > मीडिया > न्यूज़ी काउंट डाउन

मीडिया

न्यूज़ी काउंट डाउन

ज़ी इंडिया टीवी पर प्रसारित होने वाला कार्यक्रम न्यूज़ी काउंट डाउन अपने आप में अद्भुत है। अद्भुत इस संदर्भ में कि इस कार्यक्रम की तरह मनोरंजन और जागरूकता का समावेश अन्यत्र नहीं देखा गया। इसमें सप्ताह-भर के दस प्रमुख समाचारों को दस फ़िल्मी गानों के साथ दिखाया जाता है। गानों का ऑडियो टै्रक तो वही होता है किंतु बड़ी चतुराई से इसकी दृश्यावली बदल दी जाती है। दृश्यावली का यह बदलाव भी सटीक और मनोरंजक होता है।

चालीस से अधिक कड़ियों पुराना होने पर भी इस कार्यक्रम की जीवंतता अभी बरकरार है और यह दर्शकों को अपनी तरफ़ आकर्षित करने में पूरी तरह सक्षम है। इसकी पहली तेरह कड़ियों का प्रसारण ‘पोल टॉप टेन’ के नाम से हुआ था। बाद में इसका नाम रखा गया ‘न्यूज़ी काउंट डाउन’।

अपने-आप-में कई तरह की विविधताओं को समेटे इस कार्यक्रम के एंकर हैं प्रख्यात हास्य कवि अशोक चक्रधर। ‘नागरिक’ के रूप में कार्यक्रम में नज़र आने वाले अशोक चक्रधर की वाक्‌पटुता, कवित्व-क्षमता और प्रस्तुति कौशल दर्शकों के मन को भाते हैं। सहज शैली में बड़े से बड़े राजनेता या व्यक्ति पर व्यंग्य कर देना उनकी खासियत है। कैमरे के सामने किसी शीर्षस्थ अभिनेता के सदृश्य दिखाई पड़ने वाले अशोक चक्रधर में उनका सामाजिक चिंतन नज़र आता है, जो देश के राजनीतिक और सामाजिक विसंगतियों पर एक पत्रकार की भांति पैनी नज़र रखता है।

कभी संगीत, कभी राजनीति और ऐसे ही अन्य विषयों पर दिखाए जाने वाले न्यूजी काउंट डाउन शो, जो सूचना और मनोरंजन परोसने के साथ-साथ दर्शकों को लोकतंत्र में उनकी भूमिका के लिए शिक्षित भी करता है, निर्देशक एम जी शास्त्री और निर्माता उमेश उपाध्याय तथा इसका संगीत संपादन करने वाली टीम भी इस लोकप्रिय कार्यक्रम की कामयाबी का श्रेय पाने की हक़ दार है। इस कार्यक्रम ने फूहड़ता के माहौल में एक सांस्कृतिक और सुरुचिपूर्ण मनोरंजन-धर्म की स्थापना करने का कार्य किया है।

(समाचार की एक कतरन)