पुस्तकें

मनौती

किशोर उपन्यास

‘मनौती’ किशोरों के लिखा हुआ अशोक जी का एक उपन्यास है। यह एक बालिका मनौती की कहानी है। छुटपन से लेकर स्कूली जीवन तक एक बालिका जो तेजस्वीनी है जो आज समाज में बालिकाओं का प्रतिनिधित्व करती है। वह एक सामान्य बालिका है। जो अपने अद्वितीय गुणों के साथ है। यह उपन्यास निश्चित रूप से न केवल यूवाओं को किशोरों को प्रेरित करता है बल्कि उनके मन में, उनके मनोयोग में झांकते हुए उनको महत्व देता है।